पौष्टिक व संतुलित आहार का जीवन में महत्व (Importance of Nutritious and Balanced Diet in life in Hindi)

आजकल हम देखते हैं कि जीवन बहुत तनावपूर्ण व भागदौड़ भरा हो गया है| बच्चे हों या बड़े सभी जीवन की जद्दोजहद से जूझ रहे हैं| इस कारण विभिन्न प्रकार की बीमारियां शरीर को घेरे रहती हैं| इसका मुख्य कारण हमारी जीवन शैली है|

इसके लिए सभी को अपनी जीवन शैली में सुधार करने की आवश्यकता है| अब प्रश्न आता है कि जीवन शैली में सुधार कैसे किया जाये? जीवन शैली में सुधार के लिए हमें योग, आहार, पूरी नींद, आपसी संबंध (relationship) व संवाद आदि की तरफ ध्यान देने की जरूरत है|

योग द्वारा हम अपने शरीर को चुस्त, लचीला, मजबूत तथा स्वस्थ बना सकते हैं| कहा भी गया है– स्वस्थ शरीर में स्वस्थ आत्मा का वास होता है| शरीर स्वस्थ होगा तो हमारा मन खुश रहेगा तथा हम तनाव से भी मुक्त रहेंगे|

आहार हमारे जीवन का महत्वपूर्ण भाग है| कुछ लोग जीने के लिए खाते हैं अर्थात् वे पर्याप्त व संतुलित भोजन शरीर की आवश्यकता के अनुसार लेते हैं| परन्तु बहुत से लोग खाने के लिए जीते हैं जो की जीभ के स्वाद की वजह से जरूरत से अधिक, कम पौष्टिक व बे-वक्त खाते हैं जो विभिन्न बिमारियों का कारण बनता है| हमारी जीवन शैली का यही एक महत्वपूर्ण भाग है जहाँ हमें बदलाव करने की आवश्यकता है|

Importance of Balanced Diet in life in Hindi

सबसे जरुरी है कि आहार की मात्रा उतनी लेनी चाहिए जितनी शरीर को जरूरत हो- न तो बहुत अधिक खाना चाहिए और न ही बहुत कम| हमें ताजा भोजन लेना चाहिए तथा packed-food नहीं खाना चाहिए| हमें एक निर्धारित समय पर भोजन करने की आदत बनानी चाहिए अर्थात् भोजन नियत समय पर करना चाहिए| शरीर व मन को स्वस्थ रखने के लिए हमें पौष्टिक व संतुलित आहार का सेवन करना चाहिए| आइये जाने आहार क्या है तथा इसे पौष्टिक व संतुलित कैसे बनाया जा सकता है|

पांच मूलभूत तत्वों (पृथ्वी, जल, अग्नि, वायु व आकाश) से बने हुए इस शरीर को स्वस्थ रखने के लिए हमें खाद्य पदार्थों की आवश्यकता पड़ती है| इन्हीं खाद्य पदार्थों को आहार कहते हैं| आहार क्या है और इसमें किस प्रकार के खाद्य पदार्थों को शामिल करना चाहिए यह एक महत्वपूर्ण विषय है|

आहार क्या है? (What is diet?)

वह खाद्य पदार्थ जिसे खाने से हमारी भूख शांत हो तथा मन तृप्त हो आहार या भोजन कहलाता है| आहार में वो सभी पोषक तत्व शामिल होने चाहिए जो हमारी शारीरिक व मानसिक आवश्यकताओं को पूरा कर सकें| आहार सुपाच्य हो अर्थात् उसे पचाने में समय व मेहनत कम लगे|

पौष्टिक व संतुलित आहार क्या है? (What is Nutritious and Balanced Diet?)

विभिन्न पौष्टिक तत्वों से युक्त भिन्न-भिन्न खाद्य पदार्थों के उस मिश्रित रूप को पौष्टिक व संतुलित आहार कहते हैं जो हमारी शारीरिक व मानसिक आवश्यकताओं की पूर्ति करता है| केवल एक ही प्रकार के खाद्य पदार्थ में सभी पोषक तत्व पर्याप्त मात्रा में विद्यमान नहीं होते इसलिए भिन्न-भिन्न खाद्य पदार्थों को मिला कर प्रयोग करना चाहिए ताकि हमें सभी पोषक तत्व मिल सकें| इन पोषक तत्वों से शरीर का निर्माण भी होता है तथा टूट-फूट की पूर्ति भी होती है|

पौष्टिक व संतुलित आहार के प्रकार (Types of Nutritious and Balanced Diet)

पौष्टिक व संतुलित आहार में अनेक प्रकार के पोषक तत्व होते हैं जो शरीर का विकास करते हैं, उसे स्वस्थ रखते हैं तथा शक्ति प्रदान करते हैं| ये पोषक तत्व निम्न प्रकार के हैं – कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, वसा (Fat), विटामिन, खनिज, कैल्शियम आदि| पोषक तत्वों के अनुसार आहार को तीन वर्गों में बांटा जा सकता है:

1: कार्बोहाइड्रेट, वसा व स्टार्च: ये पोषक तत्व अनाज – जैसे गेहूं, बाजरा, रागी, चावल, मक्की, ज्वार आदि, घी, तेल जैसे सरसों, जैतून, मूंगफली आदि, आलू, शकरकंदी, शहद, sugar, में मिलते हैं| ये खाद्य पदार्थ शरीर को उर्जा देने का काम करते हैं|

2: प्रोटीन, कैल्शियम आदि: ये पोषक तत्व दूध, पनीर, सोयाबीन, चना, दालें, मटर, सेम, मूंगफली, अंडा, मछली आदि में मिलते हैं| ये खाद्य पदार्थ शरीर में नई कोशिकाओं का निर्माण करते हैं| ये मांसपेशियों, हड्डियों व चोटों को ठीक करने का काम करते हैं| इसलिए ये खाद्य पदार्थ शरीर का विकास करने वाले कहलाते हैं|

3: विटामिन व खनिज आदि: ये हमें फल तथा सब्जियों में मिलते हैं जैसे सेब, अनार, संतरा, आम, पपीता, गाजर, चकुंदर, हरी पत्तेदार सब्जियां, ब्रोकली आदि| ये बीमारियों से लड़ने का काम करते हैं| ये हमारे शरीर की सुरक्षा करते हैं | ये सुरक्षात्मक खाद्य पदार्थ कहलाते हैं|

आहार के साथ पानी का महत्व (Importance of water with diet)

पौष्टिक व संतुलित आहार के साथ-साथ हमें पानी पीने की तरफ भी ध्यान देने की जरूरत है क्योंकि हमारे शरीर में लगभग 70 प्रतिशत हिस्सा पानी है| पानी का असंतुलन हमें बीमार कर सकता है| इसलिए पानी भी हमारे शरीर का महत्वपूर्ण पोषक तत्व है| पानी हमारे शरीर के पोषक तत्वों को एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाने में सहायता करता है| पानी शरीर का तापमान ठीक रखता है, वसा को पचाता है, उर्जा देता है, पाचन क्रिया में सहायता करता है तथा शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालता है| इसलिए हमें प्रतिदिन कम से कम 8 -10 गिलास (2-3 लीटर) पानी अवश्य पीना चाहिए|

पौष्टिक व संतुलित आहार के लाभ (Benefits of Nutritious and Balanced Diet)

  1. पौष्टिक व संतुलित आहार हमें बाहरी व आंतरिक गतिविधियों को करने के लिए उर्जा प्रदान करता है|
  2. यह हमारे शरीर के विकास व रखरखाव के लिए पोषक तत्वों को उचित मात्रा में प्रदान करता है जिससे स्वास्थ्य ठीक रहता है|
  3. पौष्टिक व संतुलित आहार बीमारियों से बचाने में तथा इम्युनिटी बढ़ाने में हमारी मदद करता है|
  4. यह वजन को नियंत्रित रखता है तथा मोटापा नहीं आने देता|
  5. पौष्टिक व संतुलित आहार सम्पूर्ण स्वास्थ्य के लिए लाभकारी है|
Babita Gupta

M.A. (Psychology), B.Ed., M.A., M. Phil. (Education). मैंने शिक्षा के क्षेत्र में Assistant professor व सरकारी नशा मुक्ति केंद्र में Counsellor के रूप कार्य किया है। मैं अपने ज्ञान और अनुभव द्वारा blog के माध्यम से लोगों के जीवन को तनाव-मुक्त व खुशहाल बनाना चाहती हूँ।

1 thought on “पौष्टिक व संतुलित आहार का जीवन में महत्व (Importance of Nutritious and Balanced Diet in life in Hindi)”

Leave a Comment